dawood ibrahim
Spread the love

दाऊद इब्राहिम को अज्ञात व्यक्ति द्वारा जहर दिया गया

  • भारत का मोस्ट वांटेड आतंकवादी
  • दाउदपुर जहर दिया गया
  • कराची के अस्पताल में भर्ती
  • दाऊद की हालत गंभीर
  • पाकिस्तान में इंटरनेट सेवाएं कल रात से बाधित
  • इंटरनेट बंद होने का कारण से सियासी भी हो सकता है। 
  • इमरान खान की ऑनलाइन प्रदर्शन हो सकता है कारण। 

ऐसी खबर पाकिस्तान से आ रही है कि किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा दाऊद इब्राहिम (Dawood Ibrahim) को जहर दिया गया है। 

हालत गंभीर होने की वजह से कराची के एक अस्पताल में उसे भर्ती कराया गया है। 

इंडिया टुडे के दिव्या सिंह की एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत का मोस्ट वांटेड आतंकवादी (Terrorist) दाऊद की हालत काफी गंभीर है और उनकी गंभीर हालत के चलते उनका कराची के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है आज 18 दिसंबर को ही यह खबर आई है कि पिछले दो-दो नाम से उसे अस्पताल में ही रखा गया है। अस्पताल की सुरक्षा चाक चौबंद कर दी गई है। सुरक्षा को देखते हुए अस्पताल का पूरे का पूरा फ्लोर ही खाली कर दिया गया है जहां परिवार और करीबी रिश्तेदारों को छोड़कर किसी को जाने की इजाजत नहीं है।

एक और खालिस्तानी आतंकवादी की भी लीला समाप्त | भिंडरावाला का भतीजा

अभी तक ना भारत सरकार ना पाकिस्तान सरकार की ओर से कोई भी आधे कार्य बयान सामने नहीं आया है। बल्कि यह खबर सोशल मीडिया के माध्यम से ही छान-छान कर बाहर आ रही है। पाकिस्तान की एक प्रसिद्ध पत्रकार ने वीडियो जारी कर यह बताया की की ऐसा लगता है कि इस खबर को पाकिस्तान सरकार दबाना चाहती है। और यह भी नहीं चाहती की सोशल मीडिया के द्वारा यह खबर लीक हो। इसी वजह से उधर उधर सारी इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं। 

 

पाकिस्तान की तरफ से अभी भी कोई ऑफिशल अपडेट नहीं है। पाकिस्तान की तरफ से तो कोई अपडेट आने की उम्मीद भी नहीं है क्यों कि दाऊद इब्राहिम (Dawood  Ibrahim) एक घोसित  अंतरष्ट्रीय आतंकवादी है। इस लिए सरकार कि ओर से तो कोई ऑफिसियल अनाउंसमेंट नहीं ही आएगा, परन्तु पाकिस्तानी मीडिया कि ओर से भी कोई अपडेट नहीं है ! सिवाए पाकिस्तानी पत्रकार आरज़ू काज़मी (Arzoo काज़मी)। आरज़ू काज़मी का वीडियो रेफरन्स के लिए ऊपर दिया गया है।

वही मुंबई पुलिस भी भारत और पाकिस्तान में स्थित अपने सूत्रों से इस खबर की सत्ता को जानने की कोशिश कर रही है। 

लाला कृष्णा अडवाणी जब अटल बिहारी सर्कार मैं गृह मंत्री(HomeMinister) थे, तब अपने अमेरिकी आधिकारिक दौरे के दौरान तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाह कार कौण्डिलीज़ा राइज़ (Condoleezza Rice) और अमेरिकी विदेश मंत्री कॉलिन पावेल (Colin Powell) से बोलै की उनके राष्ट्रपति जॉर्ज डब्लू बुश (George W. Bush) पाकिस्तान पर दवाब डालें की मुंबई बम ब्लास्ट के मुख्या आरोपी दाऊद इब्राहिम को भारत को सौंप दे परन्तु अमेरिकी ठंडे रुख से अडवाणी जी को बड़ा दुःख हुआ। लालकृष्ण अडवाणी जी ने अपनी आत्मा कथा ” मेरा देश मेरा जीवन ” मैं भी इस बात का जिक्र करते हुए बताया है की भारत का भी एक बड़े स्तर का अधिकारी ने भी दाऊद के भारत लेन के प्रयासों मैं बहुत रोड अटकाए थे। उन्होंने अपने कार्यकाल मैं दाऊद को भारत न ला पाने पर बड़ा खेद वियक्त किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.