Pratham Kiran newsMohan Yadav Mukhyamantri Madhya Pradesh
Spread the love

  बदलते राजनीतिक दृष्टिकोण: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री पद के लिए उभरे मोहन यादव

 

सारी अटकलें को विराम देते हुए मध्य प्रदेश में एक ऐसा नाम मुख्यमंत्री के तौर पर सामने आया इसके बारे में बड़े से बड़े राजनीतिक विश्लेषक भी कयास ना लगा सके। दक्षिण उज्जैन विधानसभा सीट से विधायक मोहन यादव को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री के तौर पर चुना गया। आज मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में विधायक दल की बैठक के लिए बीजेपी कार्यालय में सुबह से ही हलचल थी और मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में जीते हुए प्रत्याशियों का आना जारी था, परंतु जिस गोपनीयता के साथ नए मुख्यमंत्री का ऐलान किया गया बैठक से पहले मध्य प्रदेश का कोई भी छोटा बड़ा नेता  भाभी मुख्यमंत्री के संबंध में बोलने से परहेज़ करते दिखाई दिए।  इससे पार्टी में वियाप्त अनुशाशन देखकर इस बात का पता लगता है कि अगर केंद्रीय नेतृत्व मजबूत हो तो पार्टी में किस तरह ऊपर से लेकर निचे तक किस तरह कसाव रहता है, जैसा कि एक समय कांग्रेस में भी देखने को मिलता था जब केंद्रीय नेतृत्व श्रीमती इंद्रा गाँधी के हांथों में था । आज की तस्वीरों के साथ यह तय हो गया की शिवराज सिंह चौहान का युग समाप्त होकर मोहन यादव युग की शुरुआत हो चुकी है। भोपाल में हुई विधायक दल की बैठक के बाद मध्य प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष श्री बी डी शर्मा जी ने मीडिया को  बताया कि मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान जी ने श्री मोहन यादव जी का नाम प्रस्तावित किया जिसे मध्य प्रदेश विधायक दल एवं एवं प्रदेश के सभी वरिष्ठ नेतागड़ ने सर्वसम्मति से अपना समर्थन दिया।

पिछली 24 घंटे में दो प्रदेश मैं दो अनपेक्षित मुख्यमंत्री घोषित कर कर जिस तरह से सरप्राइज दिया है और राजनीतिक हलकों में लगाए जा रहे सारे आन्कलनो  को फेल करते हुए और सभी संभावित बड़े नामों को पीछे छोड़ते हुए एक अनअपेक्षित नाम को मुख्यमंत्री के तौर पर पेश करके आने वाले 2024 के चुनाव के लिए सभी वर्ग के मतों को को साधने की कोशिश की है।

श्री मोहन यादव जी के बारे मैं कुछ बातें

श्री मोहन यादव जी पिछड़ा वर्ग  (OBC) समाज से आते हैं और  इससे पहले शिवराज सिंह सरकार पर उच्च शिक्षा मंत्री का पदभार संभाल चुके हैं। मोहन यादव बीजेपी में पहले ऐसे मुख्यमंत्री होंगे जो यादव समाज से आते हैं।  दक्षिण उज्जैन विधानसभा सीट से लगातार तीसरी बार विधायक चुने गए हैं। मोहन यादव ने एलएलबी बा की डिग्री प्राप्त की हुई है और इसके साथ में पीएचडी भी हैं। मोहन यादव संघ के करीबी माने जाते हैं। 

विष्णुदेव साय | छत्तीसगढ़ के नए मुख्यमंत्री का चयन  

ANI के पत्रकार द्वारा पूछे गए सवाल पर की एक आम पार्टी कार्यकर्ता को मुख्यमंत्री की भूमिका दी गई है इस पर आप क्या कहेंगे।

मध्य प्रदेश के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री मोहन यादव जी ने इस सवाल के जवाब में कहा कि “भारतीय जनता पार्टी का तंत्र ही ऐसा है कि जिसमें छोटे से कार्यकर्ता को भी बड़ी से बड़ी जिम्मेदारी दे दी जाती है और हमारी ट्रेनिंग ही कुछ इस तरह से हुई होती है की पार्टी हमें जो भी जिम्मेदारी देती है उसे हम बहुत संजीदता के साथ लेते हैं । “

नाम –                           डॉ . मो हन यादव
पार्टी –                          भारतीय जनता  पार्टी
नि र्वा चन क्षेत्र-            उज्जैन दक्षिण (217)
पि ता का ना म-          श्री पूनमचंद यादव
जन्म ति थि –                25 मार्च,1965
जन्म स्था न-                उज्‍जैन
वैवा हि क स्थि ति –     विवाहित
पत्नी –                          श्रीमती सीमा यादव
संता न-                       2 पुत्र,1 पुत्री
शैक्षणि क यो ग्यता –  बी.एस.सी., एल-एल.बी., एम.ए.(राज.विज्ञान), एम.बी.ए.,
पी.एच.डी.
व्यवसा य-                  अभिभाषक, व्‍यापार, कृषि
अभि रुचि –                पर्यटन, संस्‍कृति, इतिहास, विज्ञान, खेलकूद
स्था यी पता –             रविन्‍द्रनाथ टैगोर मार्ग, अब्‍दालपुरा, जिला-उज्‍जैन

सार्वजनिक एवं राजनितिक जीवन संक्षिप्त में

1982 में माधव विज्ञान महाविद्या लय छात्रसंघ के सह-सचिव एवं

1984 मेंअध्‍यक्ष.

1984 मेंअखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद उज्‍जैन के नगर मंत्री एवं 1986
मेंविभाग प्रमुख.

1988        मेंअखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद मध्‍यप्रदेश दे के प्रदेशदे
सहमंत्री एवं राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्‍य और

1989-90   मेंपरिषद की प्रदेश इकाई के प्रदेश दे मंत्री तथा

1991-92    में परिषद के राष्‍ट्रीय मंत्री.

1993-95    में राष्‍ट्रीय स्‍वयं सेवक संघ, उज्‍जैन नगर के सह खण्‍ड कार्यवाह, सायं भाग नगर कार्यवाह एवं
1996          में खण्‍ड कार्यवाह और नगर कार्यवाह.

1997          में भा.ज.यु.मो. की प्रदेश दे कार्य समिति के सदस्‍य.

1998         में पश्चिम रेलवेबोर्ड की सलाहकार समिति के सदस्‍य.
1999         में भा.ज.यु.मो. के उज्‍जैन संभाग प्रभारी.

2000-2003   में विक्रम विश्‍वविद्यालय उज्‍जैन की कार्यपरिषद के सदस्‍य.

2000-2003   में भा.ज.पा. के नगर जि ला महामंत्री एवं

2004               में भा.ज.पा. की प्रदेश दे कार्यसमिति के सदस्‍य.
2004               मेंसिंहस्‍थ, मध्‍यप्रदेश दे की केन्‍द्रीय समिति के सदस्‍य.

2004-2010    में उज्‍जैन विकास प्राधिकरण के अध्‍यक्ष (राज्‍य मंत्री दर्जा).

2008               से भारत स्‍काउट एण्‍ड गाइड के जिलाध्‍यक्ष.

2011-2013      में मध्‍यप्रदेश राज्‍य पर्यटन विकास निगम, भोपाल के अध्‍यक्ष (केबिनेट मंत्री दर्जा). भा.ज.पा. की प्रदेश की कार्यकारिणी के सदस्‍य.
2013-2016      में भा.ज.पा. के अखिल भारतीय सांस्‍कृतिक प्रकोष्‍ठ के सह-संयोजक.
उज्‍जैन के समग्र विका स हेतु हे अप्रवासी भारतीय संगठन शिकागो (अमेरिका) द्वारा
महात्‍मा गांधी पुरस्‍कार और इस्‍कॉन इंटरनेशनल फाउंडेशन डे द्वारा सम्‍मानित. मध्‍यप्रदेशदे
में पर्यटन के निरंतर विकास हेतु हे सन्2011-2012 एवं 2012-2013 में राष्‍ट्रपति द्वारा
पुरस्कृत

2013                 में पहली बार चौदहवीं विधान सभा के सदस्‍य निर्वाचित।

2018                में दूसरी बार पन्दरहवीं विधानसभा के सदस्य निर्वाचित ाएवं

2023                में तीसरी बार सोलहवीं विधानसभा के सदस्य के तौर पर निर्वाचित होकर आये और प्रदेश के मुख्यमंत्री पद का कार्यभार संभाला।

 

 

 मध्य प्रदेश की नई सरकार में मोहन यादव को मुख्यमंत्री के तौर पर एवं जगदीश देवड़ा और राजेंद्र शुक्ला दोनों ही उपमुख्यमंत्री के तौर पर अपनी जिम्मेदारी दे कर सभी कयासों पर विराम जरूर लगा दिया है परन्तु यादव कैबिनेट में किस किस को जगह मिलेगी इस पर से श्री यादव के मुख्या मंत्री पद की सपथ लेने के बाद ही पर्दा उठेगा।

जैसे कि श्री नरेंद्र सिंह तोमर विधानसभा स्पीकर के रूप में कार्यभार संभालेंगे,+ देखने वाली बात ये होगी की जो महारथी पार्टी ने विधानसभा चुनाव में उत्तर थे उनका क्या होता है। क्या उनको वापस दिल्ली भेज दिया जायेगा कोई मुख्या भूमिका देकर प्रदेश में ही रखा जायेगा ?

इसके बाद मंगलवार को राजस्थान में विधायक दल की बैठक होगी जिसमें राजस्थान के भाभी मुख्यमंत्री के नाम का निर्णय लिया जाएगा।

आज जयपुर में क्या होने वाला है ये कहना छत्तिसगर और मध्यप्रदेश के बाद  बहुत ही मुश्किल हो गया है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.