WFI PRESIDENT SANJAY SINGHSakshi Malik and Sanjay singh, Brijbhushan Singh
Spread the love

Sanjay singh WFI new president

महिला पहलवान साक्षी मलिक का सन्यास

संजय सिंह की जीत पर लिया फैसला

भारतीय कुश्ती संघ (WFI) के चुनाव के नतीजे आने पर बृजभूषण सिंह फेडरेशन के पूर्व अध्यक्ष अपने समर्थकों के साथ नारा लगाते हुए नजर आए की की  “ दबदबा तो है दबदबा रहेगा”

आपको जानकारी के लिए बता दें कि महिला पहलवानों द्वारा पूर्व पूर्व भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण सिंह पर यौन शोषण के आरोप लगाए गए और सड़क पर आकर महिला खिलाड़ियों ने आंदोलन भी किया जिसको पूरे खिलाड़ियों के साथ-साथ और भी लोगों का समर्थन प्राप्त हुआ। विवाद के चलते बृजभूषण सिंह को फेडरेशन के अध्यक्ष पद से हाथ धोना पड़ा। दोबारा अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए चुनाव की प्रक्रिया तो जुलाई में ही शुरू हो गई थी परंतु न्यायालय की हस्तक्षेप के कारण चुनाव प्रक्रिया आगे बढ़ते हुए आखिरकार 21 दिसंबर 2023 को चुनाव संपन्न हुई जिसमें भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष पद को मिलाकर फेडरेशन के 15 पदों के लिए चुनाव हुए। 

जिसमें अध्यक्ष पद के लिए दो प्रत्याशियों संजय सिंह और अनीता श्योराण (Anita Sheoran) में  से संजय सिंह की जीत हुई। जो बृजभूषण सिंह के करीबी  बताए जाते हैं। 

इस चुनाव में नीता श्योराण को सिर्फ 7 वोट मिले जबकि संजय सिंह 40 वोट पाकर विजय बने। श्योराण के अलावा खिलाडियों की ओर से 5 उमीदवार मैदान में उतरे गए थे जिनमें से 3 प्रत्याशी हर गए जबकि दो लोग विजय हुए । वो दो लोग –

प्रेमलोचन – सेक्रेटरी जर्नल

देवेंद्र कादियान – वॉइस प्रेसिडेंट

 

sanjay singh and bhrij bhushan singh
जीते संजय सिंह हैं ? स्वागत बृजभूषण सिंह का !

दी हुई तशवीर देखकर ये कहना मुश्किल है कि आखिर चुनाव कौन जीता है। चुनाव जीत कर आये संजय सिंह के गले में एक भी माला नहीं जबकि बृजभूषण सिंह पुष्प मालाओं से लाडे हुए हैं।

जीते संजय सिंह हैं ? स्वागत बृजभूषण सिंह का !

21 दिसंबर 2023 को हुए चुनाव संजय सिंह के जीतने के बाद भारत की महिला पहलवान साक्षी मलिक ने प्रेस कॉन्फ्रेंस संजय सिंह की जीत पर बहुत दुख जाता है और रोते हुए कहा की जो मेरे साथ और मेरी महिला साथियों के साथ हुआ उसके लिए हम पूरे की जान से लड़े और मीडिया मैं हमारा पूरा साथ दिया उसके लिए धन्यवाद परंतु संजय सिंह जैसा आदमी अगर वफाई के अध्यक्ष पद पर रहता है जो बृजभूषण सिंह का सहयोगी है उसका बिजनेस पार्टनर है अगर वह वहां दिखेगा तो मैं आज से अपनी कुश्ती त्यागती हूं ऐसा कहते हुए महिला पहलवान साक्षी मलिक ने अपने जूते जो की एक पहलवान की पहचान होते हैं को मैच पर रखकर कुश्ती से अलविदा कह दिया और रोते हुए प्रेस कॉन्फ्रेंस छोड उठ कर चली गई। 

बृजभूषण – साक्षी मालिक के सवाल पर बृजभूषण सिंह बचते दिखे जाते जाते कहा कि ” साक्षी मालिक के सन्याश से मेरा कोई लेना देना नहीं। ”

विनेश फोगाट-  इंडियन रेसलर है जो साक्षी मलिक के साथ बैठकर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रही थी उन्होंने भी कहा कि ” हम जिनसे लड़ रहे थे वो बहुत पॉवरफुल लोग हैं। हमें उसकी पावर पता है पोजीशन पता है परन्तु देश में ऐसे लोगों को पद मिल रहा है। उसको (संजय सिंह) प्रेसिडेंट के पद में आना मतलब आगे आने वाली लड़कियों को फिर से शोषण का शिकार होना पड़ेगा।    

हालांकि मामला अभी न्यायालय में है परंतु संजय सिंह की जीत को हमें कैसे देखना चाहिए यह फैसला हम आप पर छोड़ते हैं कि हम अपने समाज को और आने वाली पीढियां को हमारी और हमारे समाज की कैसी तस्वीर पेश करना चाहते हैं। 

Note: इनसब में इसका भी जिक्र करना जरूरी है किek प्रदेश के मुख्या मंत्री जी भी इस चुनाव में हिस्सा ले रहे थे।  मध्यप्रदेश के मुक्यमंत्री  उपाध्यक्ष पद के लिए चुनाव लड़ा था।  जिसमें वो हर गए उन्हें केवल 5 वोट प्राप्त हुए। । मोहन यादव जी मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री बनने से पाहिले ही कुश्ती संघ (WFI) के चुनाव का परचा भर चुके थे और जब उनके अचानक मध्य प्रदेश का मुख्यमंत्री चुना गया तब तक परचा वापस लेने कि तारिख निकल चुकी थी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.